Design a site like this with WordPress.com
Get started

Mumbai Stock Exchange

मुंबई स्टॉक एक्सचेंज Bombay Stock Exchange

जब भी न्यूज चैनल या कही भी शेयर मार्केट की न्यूज सुनते है तो सेंसेक्स NSE और BSE और NIFTY के तो हमारे मन में ये ख्याल आता है क्या होता है है बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज BSE और कैसे कार्य करता है क्या उसके कार्य है तो आइए जानते हैं क्या होता है

ये भी स्टॉक एक्सचेंज के इंडेक्स की तरह कार्य करता है इसमें देश की 30 बड़ी कंपनियों के शेयरों की लिस्टिंग होती है और यह इन्हीं 30 कम्पनियों शेयरों के बारे में बताता है ये और इन्ही के शेयर के तेजी अथवा मंदी होने के अनुपात में सेंसेक्स जारी होता है और वही सेंसेक्स का आंकड़ा होता है

मुंबई एक्सचेंज की बात की जाए तो यह एशिया का सबसे पुराना शेयर मार्केट है जो कि 1986 में खुला था और यह एशिया का सबसे पुराना शेयर बाजार है यह अपने यहां लिस्टेड 30 कंपनियों के दिन भर के व्यापार को और उनके उतार-चढ़ाव को औसत मूल्य के आधार पर सेंसेक्स जारी करता है यदि सेंसेक्स में चढ़ाव होता है तो मतलब बाजार बढ़ रहा है और यदि उतार होता है तो मतलब बाजार गिर रहा है और बाजार में मंदी है

मुंबई स्टॉक एक्सचेंज अपने 30 बड़ी कंपनियों का ही काही लेखा-जोखा दिखाता है मार्केट कैपिटल के हिसाब से यह इस समय इंडियन जीडीपी का 37 परसेन्ट हिस्सा है इस समय मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में 31 कंपनियां लिस्टेड है इन्हीं कंपनियों का औसत मूल्य जा रही होता है इसे हम सेंसेक्स कहते हैं एक तरफ से यही 30 कंपनियां शेयर बाजार का ट्रेंड स्थापित करती हैं यह 30 कंपनियां इंडिया के 13 व्यापारिक सेक्टर से चुनी जाती हैं यह कंपनियां अपने सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनियां होती हैं कंपनियां इसलिए चुनी जाती हैं कि इन्हीं के शेयरों में सबसे ज्यादा खरीद और बिक्री होती है तो इन्हीं के शहरों में होने वाले उतार चढ़ाव से सेंसेक्स जारी हो जाता है

आज के समय में मुबई स्टॉक एक्सचेंज करीब करीब मार्केट कैप 280,24,621.83 करोड़ रुपए और इन्वेस्टर 11,30,21,789 लाख इन्वेस्टर के साथ काम कर रहा है और एक बड़ा बाजार बन गया है

सेंसेक्स कैसे बनता है

जैसा कि हम ऊपर ही पढ़ चुके है की BSE में लिस्टेड 30कंपनियों के शेयर के परदर्शन पर ही औसत जारी करता है और इन्ही तीस कंपनियों के आधार ही स्टॉक एक्सचेंज अकड़ा जारी करता है यही अकड़ा ही सेंसेक्स कहलाता है वैसे तो स्टॉक एक्सचेंज में करीब 6000 हजार से ज्यादा कंपनियों के शेयरों की खरीद बिक्री होती पर मार्केट कैप के हिसाब से इन्ही तीस कंपनियों के आधार पर ही अकड़ा जारी होता है क्यों की इन्ही के शेयर सबसे ज्यादा खरीदे बेचे जाते है ये अपने सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनिया होती है

इन तीस कंपनियों का चयन एक विशेष स्टॉक एक्सचेंज कमेटी का द्वारा किया जाता है जिनमे बैंको के प्रमुख सरकार से कोई और कई जाने मैने अर्थशास्त्री शामिल होते है इन कंपनियों के चयन की विशेष परिक्रिया निम्न है

#1 पहला तो जितने दिन भी कारोबार हुआ है उतने दिन कंपनियों का शेयर खरीद या बिक्री होना जरूरी है

#2 दूसरा यह अपने सेक्टर की 150 बड़ी कंपनियों में शामिल होनी चाहिए जितने दिन शेयर बाजार खुला है उतने दिन व्यापार के अनुसार

#3 कम से कम 1 साल या उससे पहले से यह शेयर बाजार में लिस्टेड होनी चाहिए

इन सबके अलावा भी बहुत सारी गाइडलाइन है जिनका आज का सेंसेक्स इंडेक्स कमेटी द्वारा पालन किया जाता है यह सब अनिवार्यता पूरी करने पर ही किसी कंपनी को सुपर थर्टी में शामिल किया जाता है

स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड 30 कंपनियां निम्न हैं

1) Adani Ports and Special Economic Zone Ltd.

2) Asian Paints

3) Axis Bank Ltd.

4) Bajaj Auto Ltd.

5) Bharti Airtel Ltd.

6) Cipla

7) Coal India Ltd.

8) Dr. Reddys Laboratories Ltd.

9) HDFC Bank Ltd

10) Hero MotoCorp Ltd.

11) Hindustan Unilever Ltd.

12) Housing Development Finance Corporation Ltd.

13) ICICI Bank Ltd.

14) ITC

15) Infosys Ltd.

16) Kotak Mahindra Bank Ltd.

17) Larsen & Toubro Ltd.

18) लुपिन

19) Mahindra & Mahindra Ltd.

20) Maruti Suzuki India Ltd.

21) NTPC Ltd.

22) Oil & Natural Gas Corporation Ltd.

23) Power Grid Corporation Of India Ltd.

24) Reliance Industries Ltd.

25) State Bank Of India

26) Sun Pharmaceutical Industries Ltd.

27) Tata Consultancy Services Ltd.

28) Tata Motors

29) Tata Motors – DVR Ordinary

30) Tata Steel Ltd.

31) Wipro Ltd.

इन्हीं 30 कंपनियों का पूरे शेयर मार्केट पर राज होता है और यही मार्केट में ट्रेंड करती है इन कंपनियों को ब्लू चिप कंपनियां कहते हैं अभी 31 कंपनियां इसमें लिस्टेड हैं

सेंसेक्स के फायदे के

सेंसेक्स ही देश की अर्थव्यवस्था को दर्शाता है अगर इसमें तेजी है तो विदेशी निवेशक आकर्षित होते हैं और कंपनियों में पैसा लगाते हैं और कंपनियां भी विकास करती हैं और रोजगार के अवसर पैदा करती हैं जिससे देश की आर्थिक तरक्की होती है

सेंसेक्स द्वारा ही सबसे ज्यादा विदेशी निवेश ही आता है जिसकी हर देश को जरूरत होती है क्योंकि बहुत सारे भुगतान हमें विदेशी पैसों में ही करने होते हैं

आज के समय में सेंसेक्स 59000 और निफ्टी 17000 पर चल रहा है जो कि हमारे देश की अर्थव्यवस्था के लिए बहुत ही अच्छी बात है जब 1990 में शुरुआत हुई थी तो सेंसेक्स 1000 पर ही था

आज यह 5 डिजिट में कारोबार कर रहा है भारतीय अर्थव्यवस्था काफी तेजी से उभरती अवस्थी अर्थव्यवस्था है और यहां निवेशकों को काफी मौके हैं

आशा है आप सबको सेंसेक्स के बारे में काफी कुछ जानकारी मिली होगी आपको हमारा ब्लॉक कैसा लगा कमेंट में हमें जरूर बताएं और जानकारी को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें धन्यवाद।

Advertisement

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: